होते कौन हो तुम 🔥🔥🔥

होते कौन हो तुम?

मुझे चरित्र प्रमाण पत्र देने वाले।

होते कौन हो तुम? मेरी जिंदगी के फैसले लेने वाले।

जिंदगी मेरी है तो फैसले भी मेरे होगें,

जिस्म मेरा है तो कपड़े भी मेरे होगें।

मेरे कपडों पर गंदी राजनीति करने वाले,

होते कौन हो तुम मुझे चरित्र प्रमाण पत्र देने वाले।

जब मैं बोलू, मुझे चुप रहने की हिदायत देने वाले,

जब मैं हसू तो मुझे तहजीब सीखने वाले,

किसी गूंगी को फिर क्यों नहीं ब्याहते,

सुनो ओ! मेरी आवाज पर लगाम कसने वाले।

बेटे के जन्म पर अपनी मूछों को ताव देने वाले,

और बेटी के जन्म पर मातम मनाने वाले।

लानत है तुम पर ओ! बेटे बेटी में फर्क करने वाले।

लड़की की ना को  हाँ और हाँ को ना कहने वाले,

बिना उसकी मर्जी के उसकों छूने की मंसा रखने वाले,

ना मतलब सिर्फ ना होता है, 🙏

गांठ बांधकर सुनले ओ!

अपनी मर्दानगी पर इतराने वाले।

होते कौन हो तुम मुझे चरित्र प्रमाण पत्र देने वाले,

चरित्र मेरा है तो प्रमाण पत्र भी मेरे होगें,

कान खोलकर सुन ले ओ!

अपने को सर्वश्रेष्ठ बतलाने वाले। 🙏

2 thoughts on “होते कौन हो तुम 🔥🔥🔥”

Leave a Reply